A A

शिक्षा के विकास हेतु महासभा ने चला पहला कदम।

Thu, Dec 1, 2011

Mahasabha, News

अखिल भारतीय श्री ब्राह्मण स्वर्णकार महासभा द्वारा समाज के विकास हेतु विभिन्न कार्यक्रम हाथ में लिये गए। उसी कड़ी में समाज में शिक्षा के विकास हेतु शिक्षा गवर्निग काउसिंल का गठन महासभा अध्यक्ष के नेतृत्व में किया गया था। जिसकी गत बैठक दिनांक १०.०७.२०११ को पाली में हुई थी। जिसमें लिए गये निम्न बिन्दूओ पर महासभा प्राथमिकता सतत्‌ कार्य करेंगी।

१. १० वीं बोर्ड एवं इससे आगे की शिक्षा में रूचि पैदा करने हेतु प्रोत्साहन कार्यक्रम।

२. सीनियर हायर सैकण्डरी एवं इससे उच्च शिक्षा में ७५ फीसदी एवं इससे उपर मार्क लाने वाले को महासभा स्तर पर सम्मानित करना।

३. समाज के आई.ए.एस., आर.ए.एस., आर.जे.एस. तथा शिक्षा के द्वारा उच्च पदो पर आसित व्यक्तियो का सम्मान।

४. सेवानिवृत समाजसेवी शिक्षको का सम्मान।

५. भामाशाहो द्वारा बच्चो को शिक्षा हेतु गोद लेना।

६. उच्च शिक्षा एवं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ हेतु कोचिग सेन्टर की स्थापना।

७. १० वीं से उपर छात्रवृति प्रदान करना।

८. महासभा स्तर पर अक्षय कोष की स्थापना करना।

इनमें से १० वी. से उपर के जरूरतमंद होशियार छात्रो को छात्रवृति देने का कार्य की क्रियान्वित भी प्रारम्भ कर चुके हैं। समाज की पत्र पत्रिकाओ में छात्रवृति हेतु आवेदन का प्रारूप प्रकाशित किया गया था, जिसमें प्राप्त आवेदनो पर स्थानीय रिर्पोट प्राप्त कर समाज के जरूरतमंद छात्रो को छात्रवृति प्रदान कर दी गई हैं। इसके लिए कुक्षी के राजेन्द्र जी चौकसी, गिरधारी जी ईडर, रामाकिशनजी कोटडिया नागौर तथा राजेन्द्रजी मुम्बई ने कोष में अपनी सहयोग राशि प्रदान की हैं। जो धन्यवाद के पात्र हैं।

दूसरा बिन्दू इसमें है कि हायर सैकण्डरी तथा इससे उच्च शिक्षा में ७५ फीसदी एवं इससे उपर अंक लाने वाले को महासभा स्तर पर सम्मानित किया जाना हैं। जिसके लिए समाज बन्धुओ तथा स्थानीय पदाधिकारियो से निवेदन है कि आपके यहां से स्थानीय स्तर पर इस प्रकार की सूचना सग्रहित कर ७५ फीसदी से अधिक अंक लाने वाले छात्र छात्राओ के नाम प्रेषित करावे।

तीसरा सम्पूर्ण भारत में समाज के व्यक्ति जो राज्य प्रशासनिक सेवा, राज्य न्यायिक सेवा एवं आई.ए.एस. अथवा शिक्षा के माध्यम से उच्च पदो पर आसिन हो, उनके नाम पते महासभा को भिजवाने का श्रम करावे।

ऐसे भामाशाहो से वार्ता की जावे, जो शिक्षा के विकास हेतु गौद ले सके। उनके नाम भी प्रेषित करे।
समाज की शिक्षा विकास हेतु वेबसाईट भी लांच की गई है, जो  www.brahmanswarnkaredu.com   नाम से उससे भी लाभ प्राप्त करे।

शिक्षा हेतु अक्षय शिक्षा कोष की स्थापना का निर्णय किया गया तथा यह तय हुआ कि शिक्षा कोष में २१ हजार राशि देने वाले व्यक्ति को एकलव्य सम्मान से, ५१ हजार रूपये देने वाले को अर्जुन सम्मान, एक लाख देने वाले को द्रोणाचार्य सम्मान से तथा दो लाख से उपर देने वाले को भामाशाह सम्मान से प्रतिनिधि सम्मेलन में सम्मानित किया जायेगा।

इस प्रकार से महासभा शिक्षा के विकास हेतु उपरोक्त कार्यो को करने को प्रयासरत्‌ हैं। परन्तु यह तभी सफल होगे, जब आप सभी का सक्रिय सहयोग प्राप्त होगा। मैं आशा करता हॅूं अखिल भारतीय स्तर पर समाज बन्धुओ का उपर लिखित चिन्हित बिन्दूओ पर शाब्दिक एवं भौतिकीय सकारात्मक सहयोग प्राप्त होगा।

जय-जय स्वर्णकार।

गोविन्द प्रकाश सोनी
महामंत्री

Tags: ,

:like>

Leave a Reply

Ahmedabad Ajmer Barmer beawar Bhinmal Bikaner gandhinagar General Himmatnagar Jalore Jobat jodhpur Keradu kumbhalgarh merta Mumbai Nagaur News Paper pali Phalodi Sheoganj sirohi swarn jagriti अजमेर अहमदाबाद जालौर जूना केराडू जोधपुर जोबट कुंभलगढ़ गांधीनगर नागौर पाली बाडमेर बीकानेर ब्यावर भीनमाल मुम्बई मेड़ता शिवगंज समाचार पत्रिका सर्वसामान्य सिरोही स्वर्ण-जागृति हिम्मतनगर

Find

© 2015 Brahmin Swarnkar. Powered by Next On Web