A A

महासभा का एक वर्ष महामंत्री की नजर से…

Sat, Oct 30, 2010

Author's pen, Mahasabha, News

महासभा – कार्यकारिणी

२५ अक्टूम्बर २००९ को महासभा की वर्तमान कार्यकारिणी का निर्वाचन हुआ था जिसमे अधिसंखय पदो का निविर्रोध निर्वाचन हुआ था। यह हमारे समाज सदस्यों का सहयोगात्मक रूख का परिचायक है।

इससे पूर्व की कार्यकारिणी ०८-०४-२००० से २५-१०-२००९  तक रही एवं उससे पूर्व की कार्यकारिणी ०७-०३-१९९२ से ०७-०४-२००० तक पदारूढ रही एवं उनसे पूर्व सितम्बर १९८५ से ०७-०३-१९९२ तक मधुशेखर जी बतौर अध्यक्ष पदारूढ रहे। वैसे महासभा की स्थापना १९०८ में हो गयी थी ।

निर्वाचन आयोग

वर्तमान कार्यकारिणी को बाद निर्वाचन भरापूरा परिवार मिला, परन्तु आवश्यकता थी प्रबन्ध की, निर्वाचन के दिन ही हमनें घोषणा कर दी थी, २५ अक्टूम्बर २००९ को निर्वाचित इस कार्यकारिणी का संविधानानुसार कार्यकाल २४ अक्टूम्बर २०१२ को ही पूर्ण हो जाता है। इस लिए आगामी नई कार्यकारिणी का गठन २४ अक्टूम्बर २०१२ से पूर्व पूर्ण होगा तथा इसके लिए स्वतन्त्र निर्वाचन आयोग गोपाललाल जी स्वर्णकार के नेतृत्व में दो सहयोगी चुनाव आयुक्त सत्यनारायण जी नागपुर तथा रामेश्वर जी जसमतियॉं जोधपुर के साथ बना दिया।

प्रथमतः समाज में बाद निर्वाचन अगले चुनाव हेतु जो संशय की स्थिति रहती थी। उसे प्राथमिकता से समाप्त ही कर दिया, अब महासभा के आगामी निर्वाचन उपरोक्त प्रभारी टीम (निर्वाचन आयोग) स्वतः ही करवायेगी। इस प्रकार हमने प्रथम कार्य के रूप में महासभा पदाधिकारियों का समाज मे विश्वास कायम करने का प्रयास किया।

सम्पूर्ण भारतमें स्थानीय  एवं जिला स्तर पर संगठन

अखिल भारतीय स्तर पर किस प्रकार का संगठन था एवं स्थानीय सभाओं का क्या लेखा जोखा था, हम सभी से छुपा नही है। वर्तमान कार्यकारिणी ने सब से पहले समाज के स्थानीय एवं जिला स्तर पर संगठन बनाने पर ध्यान दिया है। आज हम सम्पूर्ण भारत के प्रत्येक जिले तक पहुंच गये है एवं सभी जिलो मे महासभा का प्रत्यक्ष सम्पर्क हो गया है। क्योकि हमारा समाज राजस्थान में जरूर अधीसंखय बसता है। परन्तु राजस्थान ही सम्पूर्ण भारत नही है। सभी प्रदेशों एवं जिलो एवं स्थानीय संगठनो के जुडाव से ही सम्पूर्ण भारत है तो हमने सबसे पहला कदम जिलो के बाद स्थानीय स्तर पर संगठनो को सूचिबद करना एवं निर्वाचन करवाने का कार्य प्रारम्भ किया है।

सम्पूर्ण भारत मे समान रूप से O.B.C.

वर्तमान महासभा की कार्यकारिणी की प्रथम बैठक रामदेवरा मे हुई, उसमे हमने निर्णय लिया कि हमारा समाज राजस्थान, महाराष्ट्र एवं मध्यप्रदेश मे OBC मे है। परन्तु गुजरात एवं अन्य कई राज्यो मे OBC मे शामिल नही होने से वहां के नौजवानो को अन्य समाजो से प्रतियोगिता मे पिछड़ना पडता है। इसलिए हमने एक प्रस्ताव द्वारा निर्णय लिया कि प्रत्येक माह की प्रथम दिवस को २ से ४ बजें कार्य स्थगित कर जिला कलक्टर को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री एवं मुखयमंत्री के नाम ज्ञापन देगें एवं मांग करेगें कि स्वर्णकार समाज को सम्पूर्ण भारत मे समान रूप से OBC में शामिल करें। जिससे समाज के नौजवानो को इसका फायदा मिल सकें एवं समाज की एकता भी प्रकट होगी। विशेष रूप से गुजरात राज्य मे भी समाज के काफी लोग रहते है एवं वहां हम OBC में नही है। जिसके लिए हम विशेष रूप से प्रयासरत है तथा गुजरात के मुखयमंत्री समाज कल्याण मंत्री से पत्रो के द्वारा सम्पर्क मे है तथा शीघ्र ही उन्हे महासभा की ओर से मिलकर ज्ञापन देने जायेगें, जिसमें गुजरात का समाज भी हमारे साथ होगा।

शिक्षा समिति और शिक्षा
इसके बाद चौथा कार्य हम करने को प्रयासरत है, वह शिक्षा के क्षेत्र मे समाज की भागीदारी। इसके लिए शिक्षा समिति बनायी है। जिसने भी रिर्पोट अभी दे दी है। उस पर कार्यकारिणी मे निर्णय कर फिर समाज मे शिक्षा का स्तर किस प्रकार से बढाया जावें। उसके लिए स्थानीय स्तर से प्रयत्न करेगे, सभी तरह से सहयोग करेगें।

सामुहिक विवाह प्रोत्साहन व सहयोग
समय की मांग है कि सामुहिक विवाह को प्रोत्साहन दिया जावे, खेड़ब्रह्मा मे सामुहिक विवाह आयोजित हुए, अब १८ फरवरी २०११ को शिवगंज मे सामुहिक विवाह सेवा समिति द्वारा सामुहिक विवाह आयोजित होगे। महासभा इन कार्यक्रमों में तन-मन-धन से पूर्ण सहयोग दे रही है।

खेल समिति एवं खेल आयोजन

समाज कें एक स्थान से दूसरे स्थान वालो को जोडने मे खेल भी एक महत्वपूर्ण कडी का काम करते है एवं खेल से अनुशासन भी आता है। इसलिए हमने खेल समिति द्वारा विभिन्न खेलो के आयोजन का निर्णय लिया है। जिसमें कबड्डी एवं शंतरज के खेल अखिल भारतीय स्तर पर होगें तो बीकानेर मे क्रिकेट का एक मैत्री मैच आयोजित रखा गया है।

युवक-युवती परिचय पत्रिका
युवक-युवती परिचय सम्मेंलनो का अपने-अपने स्तर पर स्वस्पूर्त से चलन हुआ है। उससे समाज के व्यक्तियों का काफी पैसा एवं समय आने-जाने एवं सम्मेलनो के पंजीयन मे खर्च हो गया एवं ठगें से रह जाते है। महासभा ने इससे मुक्ति दिलाने हेतु एक युवक-युवती परिचय पत्रिका निकालने का निर्णय लिया है। जिसमे मात्र बायोडाटा एवं फोटू चाही जावेगी, न पंजीयन शुल्क और न ही पुस्तिका का मुल्य। सभी कार्य निःशुल्क होगा। जिसकी भी तैयारी चल रही है। वह भी कार्य प्रगति पर है।

धर्मशाला एवं महासभा का वृहद्‌ कार्यालय भवन
मथुरा मे समाज की धर्मशाला जिसका समाज के ही एक व्यक्ति ने विक्रय कर दिया। उसके निरस्ती का वाद मथुरा मे चल रहा है। हम अभी मथुरा जाकर भी आये है एवं वाद के शीघ्र निस्तारण का प्रयास कर रहे है।
आगे हमारी योजना है कि जोधपुर मे महासभा का वृहद्‌ कार्यालय भवन का निर्माण हो, जो सम्पूर्ण भारत के हमारे समाज के सदस्यो का एक शक्ति केन्द्र बन सके एवं जहां से शिक्षा का कार्य संचालित हो सके दुसरा हरिद्वार मे समाज की एक धर्मशाला हो।

समाज सहयोग

हमारी इच्छा उपरोक्त कार्यो को करने की है, परन्तु ये तभी पूर्ण एवं सफल होगें जब आप सभी समाज वासियों का हम सभी को सक्रिय सहयोग मिलेगा। सहयोग तीन प्रकार का होता है, तन-मन-धन से अर्थात मन की बात पत्र मे लिखकर भी सहयोग किया जा सकता है। फिर भी इसके अतिरिक्त समाज का हर सदस्य जो बैठको सम्मेलनो मे नही पहुंच सकता, वह मुझें सीधे ही अपने सुझाव प्रेरणा स्वरूप  भेज सकते है। वे हमारे लिए अमूल्यवान होगें।

गोविन्द प्रकाश सोनी (एडवोकेट)
महामंत्री- महासभा
काली पोल के पास, नागौर
contact : 077376 89313


Tags: ,

:like>

Leave a Reply

Ahmedabad Ajmer Barmer beawar Bhinmal Bikaner Didwana gandhinagar General Himmatnagar Jalore Jobat jodhpur Keradu kumbhalgarh merta Mumbai Nagaur News Paper pali Sheoganj sirohi swarn jagriti अजमेर अहमदाबाद जालौर जूना केराडू जोधपुर जोबट कुंभलगढ़ गांधीनगर नागौर पाली बाडमेर बीकानेर ब्यावर भीनमाल मुम्बई मेड़ता शिवगंज समाचार पत्रिका सर्वसामान्य सिरोही स्वर्ण-जागृति हिम्मतनगर

Find

© 2015 Brahmin Swarnkar. Powered by Next On Web