सिवांची पट्टी में मृत्यु भोज पर पाबन्दी ……

गढ़ सिवाना / १४ फरवरी को बाड़मेर के सिवांची पट्टी के गावों के श्री ब्राह्मण स्वर्णकार बंधुओं ने गढ़ सिवाना में एक बैठक कर मृत्यु भोज विषयक निम्न लिखित क्रांतिकारी प्रस्ताव पारित किये……….

(१) मृत्यु उपरान्त गंगा प्रसादी न की जाए एवं न खाएं व न खिलाएं.

(२) मृत्यु उपरान्त साडियां बहन बेटी के अलावा देना लेना बंद किया गया.

(३) गंगा प्रसादी व छः मासी के बर्तन देना लेना बंद किया गया .

(४) मृत्यु उपरान्त बारहवें पर सादा भोजन ( दाल रोटी) बनावें,मिठाई व मीठा भोजन पूर्ण रूप से बंद किया गया. भोजन एक समय ही रखा जायेगा.

(५) बारहवें पर दाढ़ी- खूटी बाद, उठामणा होने के बाद घर जा सकते हैं .

(६) तीर्थ यात्रा या अन्य खुशी के अवसर पर गंगा प्रसादी कर सकते हैं.

(७) मृत्यु उपरान्त सुख सेज देना बंद किया गया .

इन क्रांतिकारी निर्णयों के लिए सिवांची पट्टी के समाज बंधुओं को हार्दिक अभिनन्दन !!

जगदीशचन्द्र कट्टा पुनः अध्यक्ष चूने गये …..

देवगढ़। बाह्मण स्वर्णकार नवयुवक मंडल मदारिया प्रान्त की जनरल बैठक दिनांक १० फरवरी २०१३ रविवार को श्री उडेश्वर महादेव छापली में हुई। बैठक में नवयुवक मंडल के चुनाव में जगदीशचन्द्र कट्टा  दूसरी बार निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए।

रविवार को नवयुवक मण्डल मदारिया प्रान्त की बैठक की अध्यक्षता मांगीलाल चौहान ने की। वही विशिष्ठ अतिथि सुवालाल मंडोरा, इंदरलाल,श्री ब्राह्मण स्वर्णकार सामूहिक विवाह समिति के अध्यक्ष तुलसीराम जोजावरा, भगवानलाल, गणपतलाल, राधेश्याम मणीयार, पुखराज व बाबूलाल कट्टा  थे। बैठक में समाज सुधार पर चर्चा के साथ समाज में शिक्षा को महत्व देने पर खूली चर्चा की गई, जिसमें नवयुवक मंडल द्वारा पिछले तीन वर्षो से समाज के प्रतिभावान छात्रों के लिए आयोजित सम्मान समारोह को आगे भी निरन्तर जारी रखने का निर्णय लिया गया। बैठक में राजसमंद,पाली,उदयपुर,अजमेर,भीलवाडा जिले के साथ गुजरात के समाज के लोग उपस्थित थे। संचालन अशोक मणीयार ने किया।

इस दौरान हुए चुनावों में जगदीशचन्द्र कट्टा  दूसरी बार निर्विरोध अध्यक्ष चूने गये । चुनाव पर्यवेक्षक राधेश्याम मणीयार व गणपतलाल वोपारी के निर्देशन में हुए चुनाव में महेश मणीयार महामंत्री, नंदकिशोर जौजावरा, चंद्रप्रकाश, राजेन्द्र कोट, रमेश मंडोरा उपाध्यक्ष, खेमराज कोषाध्यक्ष, रमेशचन्द्र, सुरेशचन्द्र, छगनलाल, सहकोषाध्यक्ष संगठन मंत्री जगदीशचंद्र राणावास, सहसंगठन मंत्री अशोक जोजावरा, राधेश्याम,नरेन्द्र सांकरिया व ओमप्रकाश मंडोरा को सर्वसम्मति से चुना गया। चुनाव के बाद सभी पदाधिकारियों को अध्यक्ष ने शपथ दिलाई।

सौ.- प्रातःकाल दैनिक
Tag.- छापली

काशीरामजी नहीं रहे …..

अखिल भारतीय श्री ब्राह्मण स्वर्णकार महासभा के पूर्व अध्यक्ष, प्रखर आर्यसमाजी व गौ भक्त श्री काशीरामजी भजूड का दिनांक  04/02/2013  सोमवार को बीकानेर में उनके निवास स्थान पर दुःखद निधन हो गया . वे 90 वर्ष के थे . पिछले कुछ समय से वे अस्वस्थ चल रहे थे.

काशीराम जी का जन्म जनवरी सन  1923 में  हुआ था . उन्होंने मात्र प्राथमिक शिक्षा ही प्राप्त की थी , किन्तु अपनी मेहनत व लगन से वे सन 1963 में बीकानेर नगर पालिका  में पार्षद चूने गये . भारत – पकिस्तान बंटवारे के समय हमारे समाज की एक महिला को विधर्मी उठा ले गये थे तब इन्होंने अपने मित्रों के साथ मिल कर उसे वापस स्वदेश लाकर समाज में प्रस्थापित किया था .

आप बीकानेर में आर्य समाज के संस्थापक सदस्य थे तथा अंतिम समय तक गौ सेवा में लगे रहे . मृत्यु भोज व अन्य कुरीतियों के वे प्रखर विरोधी थे . स्त्री शिक्षा के वे प्रखर हिमायती थे . वे अप्रैल सन 2000  से  अक्टूबर 2009 तक महासभा के अध्यक्ष रहे . स्वभाव से वे शांत तथा मृदु भाषी थे .

महासभा अध्यक्ष श्री भंवरलालजी स्वर्णकार व महामंत्री श्री गोविन्द प्रकाश भजूड ने उनके निधन पर संवेदना जताई एवं श्री अखिल भारतीय ब्राह्मण स्वर्णकार सर्व हितकारी ट्रष्ट के अध्यक्ष श्री शंकरलालजी व महा मंत्री श्री जयप्रकाशजी हेडाऊ ने गहरा शोक व्यक्त किया है. उनके निधन से समाज ने एक कर्मठ समाज सेवी खो दिया . ईश्वर उनकी आत्मा को  चिर शान्ति प्रदान करे .